चूरू जिला: तीन हजार से अधिक आबादी वाले गांव के हर घर को मिलेगा पेयजल कनेक्शन

water connection Churu

आपणी योजना के तहत जिला कलेक्ट्रेट चूरू के सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेते सुरेन्द्र गोयल।

आपणी योजना के तहत चूरू जिले में 3 हजार से अधिक आबादी वाले गांवों में घर-घर पेयजल कनेक्शन दिए जाएंगे ताकि ग्रामीणों को पीने के लिए मीठा पानी उपलब्ध कराया जा सके। जिले में राज्य सरकार द्वारा संचालित पेयजल परियोजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 50 प्रतिशत हिस्सा जनसहभागिता से सुनिश्चित होने पर प्राथमिकता से पेयजल वितरण व्यवस्था की जायेगी। यह जानकारी जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं भू-जल मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने दी है। गोयल जिला कलेक्ट्रेट चूरू के सभाकक्ष में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ आयोजित आपणी योजना की समीक्षात्मक बैठक को संबोधित कर रहे थे। पेयजल कनेक्शन कराने की मांग करने पर भू-जल मंत्री ने संबंधित अभियंताओं को राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप गांवों एवं ढ़ाणियों में सुचारू पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। साथ ही राजगढ़-बूंगी जलप्रदाय परियोजना एवं रतनगढ़-सुजानगढ़ वृहद पेयजल परियोजना की प्रगति की जानकारी ली और अंतिम छोर के गांवों में मीठा पानी आपूर्ति के निर्देश दिए।

सरकार हर व्यक्ति को पेयजल मुहैया कराने को दृढ़ संकल्पित: गोयल

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार हर व्यक्ति को पेयजल मुहैया कराने के लिए दृढ़ संकल्पित है। इसी दृष्टिगत प्रदेश के हर गांव एवं ढ़ाणी में पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने आपणी योजना एवं पेयजल विभाग द्वारा जिले में संचालित पेयजल व्यवस्था पर संतोष व्यक्त करते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे स्थानीय जनप्रतिनिधियों से फीड बैक व सुझाव प्राप्त कर गांवों में पेयजल की बेहत्तर व्यवस्था सुनिश्चित करें।

अभियान चलाकर लीकेज को दुरूस्त करने के निर्देश

भू-जल मंत्री ने ढ़ाणियों में अवैध पेयजल कनेक्शन तुरन्त हटाऎ एवं जिले में अभियान चलाकर पेयजल लीकेज को त्वरित दुरूस्त करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही तारानगर एवं सरदारशहर शहर में पेयजल की सुचारू व्यवस्था के लिए रिनोवेशन स्कीम के तहत कार्यवाही करने और ग्रामीण क्षेत्रों में आरओ खराब होने पर त्वरित ठीक करना सुनिश्चित करने को कहा है। अधिकारी जनप्रतिनिधि से आपसी समंजस्य कायम रखते हुए जनता के हित में कार्य करने का आव्हान किया।

पिछले 6 महीनों में 192 हैण्ड पंपों की हुई मरम्मत

बैठक में अधिक्षण अभियंता (पेयजल) सुनील कश्यप ने जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित पेयजल योजनाओं की प्रगति की जानकारी देते हुए बताया कि आपणी योजना के तहत 1 अप्रैल से 30 सितम्बर, 2017 तक अभियान चलाकर शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 192 हैण्ड पम्पों को ठीक किया गया। साथ ही 146 गांव एवं 34 ढ़ाणियों में कुल 9 हजार 801 टैंकर ट्रीप द्वारा जलापूर्ति की गई। स्वीकृत 39 जल योजनाओं का कार्य पूर्ण हुआ, शेष एक योजना का कार्य प्रगति पर है। अमृत योजनान्तर्गत चूरू एवं सुजानगढ शहर में उच्च एवं स्वच्छ जलाशय का निर्माण कार्य जून, 2019 तक पूर्ण कर लिया जायेगा। सांसद आदर्श ग्राम योजनान्तर्गत तारानगर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम भनीण एवं लूणास में उच्च जलाशयों का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

यह रहे उपस्थित

इस अवसर पर जिला कलक्टर ललित कुमार गुप्ता, जिला प्रमुख हरलाल सहारण, समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष कमला कस्वां, जिला परिषद सदस्य कुलदीप पूनियां, सरदारशहर के पूर्व विधायक अशोक पींचा, प्रधान सत्यनारायण सारण, जनप्रतिनिधिगण एवं विभाग के अधिकारी मौजूद थे।