प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी केन्द्र जल्द होंगे हाईटेक: मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे

राजस्थान में सभी आंगनबाड़ी केंद्र जल्द ही हाइटेक होने जा रहे हैं। आंगनबाड़ी केंद्रों को हाइटेक बनाने के लिए प्रदेश के आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन व टैबलेट दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मंगलवार को अजमेर से प्रदेश के आंगनबाड़ी केन्द्रों को हाईटेक किए जाने की शुरूआत की। उन्होंने आई.सी.डी.एस विभाग की स्निप परियोजना के तहत मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य तथा पोषण की निगरानी को सुदृढ़ करने के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन व टैबलेट दिए। योजना में 9 जिलों में 21 हजार 430 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को एंड्रॉयड फोन दिये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दिए स्मार्टफोन: सीएम राजे ने इन्फोर्मेशन कम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजी एवं रियल टाइम मॉनिटरिंग कार्यक्रम के तहत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अन्नपूर्णा पाराशर, शोभना एवं शकुंतला भाटिया को एंड्रॉयड फोन एवं अलका शर्मा व गिरधर कंवर को एंड्रॉयड टेबलेट भी वितरित किए।

news of rajasthan

cm-gifts-Smartphone-to-Anganwadi-workers-ajmer.

आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को दिया जाएगा प्रशिक्षण: ​इस योजना के लागू होने से अजमेर, जयपुर, राजसमंद, डूंगरपुर, उदयपुर, बांसवाड़ा, चूरू, अलवर एवं भीलवाड़ा जिलों के आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के सभी 11 रजिस्टरों के स्थान पर एक ही रजिस्टर रहेगा। शेष सभी आंकड़े मोबाइल पर रियल टाइम उपलब्ध होंगे। रियल टाइम डाटा उपलब्ध होने की दशा में बेहतर पर्यवेक्षण, नीति क्रियान्वयन एवं नीति निर्धारण की जा सकेगी। योजना के तहत प्रथम चरण के 9 जिलों की 46 परियोजनाओं में 10 हजार 500 आंगनबाडी केन्द्रों के मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण आयोजित किया जा रहा है। माह के अंत तक दक्ष प्रशिक्षकों द्वारा आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Read More: तीर्थराज पुष्कर पहुंची मुख्यमंत्री, ब्रह्मा मंदिर विस्तार परियोजना का किया भूमि-पूजन

योजना शुभारंभ के अवसर पर ये रहे उपस्थित: आंगनबाड़ी केंद्रों को हाइटेक किए जाने की योजना के शुभारंभ कार्यक्रम में सार्वजनिक निर्माण एवं परिवहन मंत्री यूनुस खान, शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी मंत्री, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल, संसदीय सचिव सुरेश सिंह रावत, संसदीय सचिव शत्रुघ्न गौतम, विधायक शंकरसिंह रावत एवं विधायक भागीरथ चौधरी उपस्थित थे।