किसान भाईयों की आय को दोगुना करने के लिए आवश्यक है पशुपालन करना, सरकारी योजनाओं में दे अपना योगदान: कृषि मंत्री सैनी

राजस्थान सरकार ने किसान हितों में कई फैसले लिए है जिनसे किसान भाईयों को अनावश्यक आर्थिक भार नही झेलना पड़ रहा है। देश भर में राजस्थान किसानों को ब्याज मुक्त लोन देने के मामले में दूसरे स्थान पर है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसानों को प्रदेश सरकार हर स्थान में सहायता दे रही है। आज राज्य सरकार के अभिन्न प्रयासों से हमारा किसान देश भर में अग्रणी किसान के रूप में उभर कर आया है। यहां के किसान ने कई फसलों का बंपर पैदावार किया है जो देश में कोई और राज्य नही कर पाया। राजस्थान के किसानों की आय़ को दोगुना करने के लिए अब पशूपालन क्षेत्र में किसानों को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है।

कृषि के साथ पशुपालन में भी करें किसान मेहनत

पशुपालन मंत्री प्रभुलाल सैनी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के विजन को पूरा करने में पशुपालन क्षेत्र का अहम योगदान होगा। उन्होंने किसानों से आह्वान किया कि वे कृषि के साथ उन्नत पशुपालन करें, ताकि वे आपदा के समय सुरक्षित रह सकें और उनकी आय में वृद्धि हो।

दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देकर बढ़ा सकते है आमदनी

सैनी गुरुवार को राजस्थान राज्य पशुधन प्रबन्धन एवं प्रशिक्षण संस्थान, जामडोली में राजस्थान पशु चिकित्सक संघ के शपथ ग्रहण समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मांग की तुलना में दूध की तुलना निरन्तर कम होती जा रही है, अगर हमने दुग्ध उत्पादन को नहीं बढ़ाया, तो वह दिन दूर नहीं जब गाय का दूध मेडिकल स्टोर पर बॉटल्स में मिलेगा। दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के लिए हमें पशुओं के नस्ल सुधार, उपचार, आहार पर ध्यान देना होगा।

सरकारी योजनाओं में निभाएं अपनी भागीदारी

पशुपालन मंत्री सैनी ने पशु चिकित्सकों से आह्वान किया कि वे सरकार द्वारा चलाई जा रही पशुपालन की विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रम के क्रियान्वयन में ईमानदारी से अपना योगदान दें। उन्होंने पशु चिकित्सकों को आश्वस्त किया कि उनकी उचित मांगों पर गंभीरता से विचार किया जाएगा, लेकिन इसके साथ ही वे पशुपालन के विकास में अपना योगदान ईमानदारी से दें।