कोटा दशहरा मेला: हैं​गिंग ब्रिज और सेवन वंडर्स का हैलीकॉप्टर से कर सकेंगे दीदार

कोटा का राष्ट्रीय दशहरा मेला अपनी खास पहचान रखता है। मेला देखने के लिए देशी-विदेशी पर्यटक भी यहां पहुंचते हैं। हर वर्ष की भांति मेला तो इस बार भी होगा लेकिन इस बार का मेला बेहद खास होने वाला है। इस बार चकरी और झूलों की बजाय पर्यटकों को हैलीकॉप्टर से कोटा को निहारने का मौका मिलेगा। पर्यटक कुल दस मिनट के हवाई सफर में कोटा शहर के प्रसिद्ध स्थल देख सकेंगे। पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से कोटा में पहली बार हैलीकॉप्टर राइडिंग का आयोजन किया जा रहा है। इस बार दशहरा मेले के अवसर पर जालौर की एक एविएशन कंपनी कोटा दर्शन करवाने की तैयारी कर चुकी है। इसके लिए एविएशन कंपनी ने डीसीएम रोड स्थित पॉलीटेक्निक कॉलेज के पास खाली पड़ी जगह का चयन किया है।

news-of-rajasthan

Image: Seven-Wonders-Kota (image credit: mouthshut)

मात्र 3100 रुपए होगा शुल्क: कोटा दर्शन सेवा का औपचारिक उद्घाटन 28 सितम्बर को होगा। 29 सितम्बर से अगले 9 दिनों तक पर्यटक हैलीकॉप्टर सेवा का लाभ ले सकेंगे। एविएशन कंपनी कोटा दर्शन के लिए पर्यटकों से सिर्फ 3100 रुपए प्रति व्यक्ति के हिसाब से शुल्क लेगी। कंपनी के दो हैलीकाप्टर्स से कोटा पर्यटकों को कोटा दर्शन कराए जाएंगे।

news-of-rajasthan

file photo: dussehra-mela-kota

हैलीकॉप्टर पॉलीटेक्निक कॉलेज के पास खाली मैदान से उड़ान भरेंगे। यहां से सेवन वंडर्स, किशोर सागर, छत्रविलास गार्डन, कोटा बैराज, हैंगिंग ब्रिज के हवाई दर्शन करवाएं जाएंगे। इस सफर में एक साथ 6 पर्यटक कोटा दर्शन कर सकेंगे। यह सफर दस मिनट का होगा। दोनों हैलीकॉप्टर्स सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक उड़ान भरेंगे।