नेशनल हैण्डलूम एक्सपो 11 फरवरी से, जयपुर आएंगी देशभर की बुनकर समितियां

राजस्थान की राजधानी जयपुर में 15 दिवसीय नेशनल हैण्डलूम एक्सपो रविवार से शुरू होने जा रहा है। उद्यम प्रोत्साहन संस्थान द्वारा 11 फरवरी से 25 फरवरी तक जयपुर के अमरुदों के बाग में नेशनल हैण्डलूम एक्सपो का आयोजन किया जाएगा। भारत सरकार के वस्त्र मंत्रालय के सहयोग से आयोजित इस 15 दिवसीय एक्सपो में देशभर की बुनकर समितियों केे हैण्डलूम उत्पाद देखने, परखने और खरीदने का अवसर उपलब्ध होगा। प्रदेश के लोगों और जयपुर आने वाले पर्यटकों को यहां एक ही जगह विभिन्न राज्यों के हैण्डलूम उत्पादों को खरीदने का मौका मिलेगा।

news of rajasthan

File-Image: नेशनल हैण्डलूम एक्सपो 11 फरवरी से, जयपुर आएंगी देशभर की बुनकर समितियां.

20 से ज्यादा प्रदेशों के ​विभिन्न हैण्डलूम उत्पाद बिक्री के लिए होंगे उपलब्ध

उद्योग आयुक्त कुंजीलाल मीणा ने बताया कि 15 दिवसीय नेशनल हैण्डलूम एक्सपो में राजस्थान की हैण्डलूम उत्पाद बनाने वाली बुनकर समितियों सहित उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, कर्नाटक, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पांडिचरी आदि प्रदेशों के नायाब हैण्डलूम उत्पाद वहां की हैण्डलूम उत्पादक समितियों द्वारा प्रदर्शित व बिक्री की व्यवस्था की जाएगी। बता दें कि हैण्डलूम एक्सपों में महिलाओं के लिए बनारसी साड़ियों, सिल्क साड़ियों, चंदेरी साड़ियों सहित देश के विभिन्न प्रदेशों की पहचान बनी साड़ियों के साथ ही ड्रेस मैटेरियल, विभिन्न प्रांतों की बुनकर समितियों द्वारा तैयार गलीचे, नमदा, चादरें, बेडशीट, पिलोे कवर, सोफा कवर, कुशन सेट सहित विविध हैण्डलूम उत्पाद बिक्री हेतु उपलब्ध होंगे।

Read More: राजे सरकार ने संस्कृत शिक्षा में 1829 शिक्षकों को दी नियुक्ति, लेवल द्वितीय के पदों पर भर्ती शीघ्र

बुनकर समितियों को अपने उत्पादों को प्रदर्शित करने और बाजार उपलब्ध कराने का है उद्देश्य

नेशनल हैण्डलूम एक्सपो के आयोजन का मुख्य उद्देश्य देश की बुनकर समितियों को अपने उत्पादों को प्रदर्शित करने, बाजार उपलब्ध कराने, बाजार की मांग को समझने और नए-नए डिजाइन तैयार करने और एक दूसरे प्रदेश के अनुभवों के आदान-प्रदान का अवसर उपलब्ध कराना है। जयपुर में होने जा रहे नेशनल हैण्डलूम एक्सपो के माध्यम से बुनकरों को भी एक दूसरे को समझने, आपसी नवाचारों और केन्द्र व प्रदेशों की योजनाओं की जानकारी साझा करने का भी अवसर मिल सकेगा। बुनकर समितियों को जयपुर एक्सपो में अच्छी ब्रिकी की उम्मीद है।