राजस्थान सरकार ने धौलपुर एवं भीलवाड़ा में 3 नए राजस्व ग्राम किए घोषित

राजस्थान सरकार की ओर से मंगलवार को जारी की गई अधिसूचनाओं के अनुसार धौलपुर एवं भीलवाड़ा जिले में 3 नए राजस्व ग्राम बनाए गए हैं। इन अधिसूचनाओं के अनुसार डांग क्षेत्र धौलपुर जिले की धौलपुर तहसील में चांदपुर मूल राजस्व ग्राम से सरेखी का पुरा को नया राजस्व ग्राम घोषित किया गया है। साथ ही जिले की सरमथुरा तहसील में चांदपुरा मूल राजस्व ग्राम से सिद्धपुरा को नया राजस्व ग्राम घोषित किया गया है।

Rajasthan Government announces 3 new revenue villages in Dholpur and Bhilwara.

                                     राजस्थान सरकार ने धौलपुर एवं भीलवाड़ा जिले में 3 नए राजस्व ग्राम घोषित किए.

भीलवाड़ा जिले में यह बना नया राजस्व गांव: धौलपुर के अलावा राज्य के एक और​ जिले भीलवाड़ा की कोटडी तहसील में जावल मूल राजस्व ग्राम से जाटों की नोहरा को नया राजस्व ग्राम घोषित किया गया है। मूल राजस्व ग्रामों तथा नए राजस्व ग्रामों की अलग-अलग जमाबंदी, खसरा नंबर, नक्शे तथा अभिलेखों के परिशोधन के लिए संबंधित जिले के जिला कलक्टर को अधिकृत किया गया है।

Read More: राजस्थान सरकार के इस एमओयू से प्रदेश के 30 हजार युवाओं को मिलेगा रोजगार

मेड़ता तहसील में तीन नए पटवार मंडल शामिल: मंगलवार को जारी की एक अधिसूचना में राजस्थान सरकार ने नागौर जिले की ग्राम पंचायत धांधलासउदा, मोररा एवं कात्यासनी के तीनों पटवार मंडलों को तहसील रियांबड़ी से हटाकर मेड़ता तहसील में शामिल कर दिया है। सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना के बाद रियांबड़ी तहसील में पटवार मंडलों की संख्या 38 से घटकर 35 हो गई है। वहीं मेड़ता तहसील में 3 पटवार मंडल बढ़ने से पटवार मंडलों की संख्या 38 से 41 हो गई हैं।